सोमवार, नवम्बर 29

बिहार के इस जिले में बनेगा चीन जैसा पहला कोरोना हॉस्पिटल सर्वाधिक मामले गोपालगंज जिले से मिला

बिहार के लिए यह राहत भरी खबर है कि बीते रविवार के बाद से यहां एक भी कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मामला नहीं मिला है। हालांकि, बिहार सरकार ने पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्‍पताल (NMCH) को कोरोना स्पेशल अस्पताल (Corona Special Hospital) बनाने का बड़ा फैसला लिया है। एनएमसीएच में अब केवल कोरोना संक्रमित व संदिग्‍ध मरीजों का इलाज होगा। यह अस्‍पताल चीन के वुहान शहर में कोरोना के इलाज के लिए बनाए गए अस्‍पताल की तरह का ही होगा।

 

बिहार में कोरोना के बढ़ते संदिग्‍धों को देखते हुए और पॉजिटिव मामलों के सामने आने की आशंका बनी हुई है। हालांकि, राहत की बात यह है कि रविवार के बाद से अभी तक कोई नया पॉजिटिव मामला समाने नहीं आया है। राज्‍य सरकार ने एहतियातन पूरे राज्‍य में लॉक डाउन (Lock Down) की घोषणा कर दी है। इसका मकसद है कि लोग घरों में रहें, ताकि संक्रमण (Infection) आगे अन्‍य लोगों में नहीं फैल सके। इस बीच जो भी संक्रमित मिलें, उनका इलाज हो सके। कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए ही सरकार ने पटना के एनएमसीएच को स्‍पेशल अस्‍पताल का दर्जा दिया है। इसे सरकार की आगे की तैयारी मान सकते हें।

 

मंगलवार को राज्य के मुख्य सचिव स्वास्थ्य के प्रधान सचिव के स्तर पर हुई एक बैठक में इस निर्णय पर सहमति बनी है। स्वास्थ्य सूत्रों की मानें तो इस अस्पताल को चीन के वुहान शहर में विकसित किए गए अस्पताल के तरह विकसित किया जाएगा। वुहान प्रशासन ने वहां कोरोना के मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एक अस्पताल को कोरोना के लिए डेडीकेटेड अस्पताल के रूप में विकसित कर दिया था, जिसमें कोरोना के सभी संक्रमित और संदिग्ध मरीजों को भर्ती कर इलाज किया गया था।

 

बिहार में अभी तक कोरोना के तीन संक्रमित मरीज मिले हैं। उनमें एक युवक की मौत पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (AIIMS) में हो गई। खास बात यह रही कि युवक की मौत के बाद उसके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई। इस बीच राज्‍य में मंगलवार की दोपहर तक कोरोना की आशंका होने पर कुल 909 लोगों को सर्विलांस पर लिया जा चुका था। इनमें सर्वाधिक 172 मामले गोपालगंज (Gopalganj) के हैं। सौ मामलों के साथ दूसरे स्‍थान पर पटना (Patna) है। जांच के लिए भेजे गए 192 सैंपल की रिपोर्ट मिले, जिनमें तीन पॉजिटिव हैं। बिहार में लॉक डाउन बीते दिन से जारी है। हालांकि, इसे लेकर अभी लोगों में पूरी सजगता नहीं देखी जा रही है। इस कारण प्रशासन अब सख्‍त कार्रवाई की तैयारी में है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *