पटनावासियों के लिए एक खुशखबरी है, जैसा कि हम सब जानते हैं कि पटना मेट्रो के एलिवेटेड रोड का निर्माण कार्य अपनी गति से चल ही रहा है, इसी बीच खबर आ रही है कि पटना मेट्रो एलिवेटेड रूट के साथ-साथ अंडर ग्राउंड रूट के निर्माण कार्य की भी शुरुआत हो चुकी है। इनमें से पहले नंबर पर है पटना स्टेशन से न्यू आईएसबीटी यानी नए बस स्टैंड वाले रोड का निर्माण। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस रूट में पांच एलिवेटेड एवं सात भूमिगत स्टेशनों समेत कुल 12 स्टेशन होंगे । अगर बात करें निर्माण कार्य की तो यहां आपको बता दें कि मलाही पकड़ी से नए बस स्टैंड तक बनाए जाने वाले एलिवेटेड रूट को प्रायोरिटी कॉरिडोर का हिस्सा बताया जा रहा है। इस रूट को सबसे पहले शुरू करने की योजना के कारण इस रूट का काम काफी लंबे समय से चल रहा है। दूसरे नंबर पर है राजेंद्र नगर से आकाशवाणी तक के भूमिगत रूट का निर्माण जिसका शिलान्यास भी हो चुका है। जानकारी के अनुसार इसे भी तेजी से पूर्ण करने का लक्ष्य बनाया गया है।

 

# जानिए क्या है पटना मेट्रो का रूट प्लान__

बात नहीं अगर पटना में क्योंकि रूट प्लान की तो बताया जा रहा है कि पटना मेट्रो के रूट प्लान के अनुसार, दानापुर से पटना जंक्शन तक कोरिडोर-1 और पटना जंक्शन से न्यू आइएसबीटी तक कोरिडोर-2 है। दोनों रूटों पर कुल 26  स्टेशन होंगे। जिनमें पटना स्टेशन और खेमनीचक स्टेशन दोनों रूट से जुड़ा होगा। यानी इन दोनों स्टेशनों से मेट्रो यात्री एक रूट से दूसरे रूट का मेट्रो बदल सकेंगे। पटना जंक्शन के पास बनने वाला मेट्रो स्टेशन जमीन से आठ मीटर नीचे बनाया जाएगा। इसमें दो प्लेटफार्म होंगे।

 

# दूर हुई भूमिगत स्टेशनों के लिए जमीन की बाधा__

सूत्रों से मिली खबर के अनुसार राजेंद्र नगर से आकाशवाणी तक बनने वाले पटना मेट्रो के छह भूमिगत स्टेशनों के लिए जमीन की परेशानी अब दूर हो चुकी है। बताया जा रहा है कि इन सभी छह स्टेशनों में से चार स्टेशनों के लिए भूमि अधिग्रहण की समस्या थी जिनका निवारण हो चुका है। यहां आपको बता दें कि गांधी मैदान एवं राजेंद्र नगर में मेट्रो स्टेशन के निर्माण के लिए पर्याप्त जमीन उपलब्ध है। अगर बात करें पीएमसीएच, विश्वविद्यालय एवं मोइनुल हुक स्टेडियम के पास बनने वाले मेट्रो स्टेशन की तो सुनने में आ रहा है कि इन स्थानों के पास बनने वाले मेट्रो स्टेशन का निर्माण, संबंधित संस्थान के परिसर में ही किया जाएगा। दूसरी तरफ फ्रेजर रोड में आकाशवाणी स्टेशन के निर्माण हेतु आकाशवाणी एवं एलआईसी की लगभग 1574 वर्ग मीटर जमीन लेने की कवायद शुरू हो चुकी है, जिसे लेकर केंद्र व राज्य स्तर पर बातचीत हो चुकी है।

 

# कितनी जमीन थी पहले से उपलब्ध__

जानकारों की माने तो पटना मेट्रो प्रोजेक्ट के तहत सिविल निर्माण हेतु लगभग 73% जमीन पहले से ही उपलब्ध थी। कुल जमीन की आवश्यकताओं में से केवल 27% के लिए भूमि अधिग्रहण की आवश्यकता थी, जिसमें से भी काफी हिस्से की आपूर्ति हो चुकी है। पटना मेट्रो डिपो की 76.64 एकड़ जमीन के लिए अधिग्रहण भी जल्द पूरा होने की संभावना है। इसके बाद पटना मेट्रो के डिपो का निर्माण शुरू हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *