#

बिहार का सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन राज्य का पटना जंक्शन है क्योंकि यहाँ से रोज़ लाखों यात्री यात्रा आरम्भ करते है एवं लाखों लोग यहाँ अपने राज्य पहुँचते है। ऐसे में ट्रैफ़िक व्यवस्था और यात्रीयो के सहूलियत को देखते हुए सरकार भी पूर्ण प्रयाशरत है। पटना जंक्शन से बाहर निकलते हाई गोलंबर पर बसो और टैक्सी वालों की भीड़ अक्सर यात्रीयो की परेशानी का कारण बने रहते है।

 

इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए पटना जंक्शन के सामने स्थिक बुद्ध स्मृति पार्क से पटना जंक्शन तक सबवे बनाने की तैयारी शुरू कर दी गयी है। अब इस सबवे के बन जाने से जाम की समस्या की निजात तो मिलेगा हाई साथ साथ पैदल यात्रीयो को बड़ी राहत मिलेगी। अब लोग अपने वाहन को मल्टीलेवल पार्किंग में खड़ी करके सबवे के माध्यम से पैदल यात्रा करते हुए पटना जंक्शन में प्रवेश कर सकेंगे।

 

बिहार के पटना ज़िले में प्रदूषण भी एक बड़ी हाई गम्भीर समस्या उभर कर आयी है, जब तक पटना मेट्रो का संचालन शुरू नहीं हो जाता, तक तक सड़कों पर वाहनो का लोड घटने वाला नहीं है। पटना मेट्रो के शुरू होने से हर रोज़ कार्यालय या जॉब पर जाने वाले लोग मेट्रो से जाएँगे तो पैसे की बचत होगी और वाहनो के नहीं चलने से प्रदूषण में भी कमी आएगी।

 

इसके अलावा बिहार करकर लगातार CNG और इलेक्ट्रिक बसो के संचालन पर ज़ोर दिए हुए है। अब तो परिवहन विभाग पुराने डीसल वाले बसो में भी CNG कीट लगवा रहा है। सरकार के इस बेहतरीन पहल से प्रदूषण में गिरावट तो होगी ही। आने वाले 2021-22 वित्तीय वर्ष में 20 करोड़ रुपए से और CNG बसो की ख़रीद होगी। जिसमें 25 AC बस का ख़रीद शामिल है। साथ साथ इलेक्ट्रिक बसो के लिए 2 करोड़ रुपए खर्च करके चार्जिंग स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।