गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )  अब गीडा के ऐसे भूखंड जिनका 5 साल पहले एलोकेशन हुआ तथा उसमें किसी फैक्ट्री की स्थापना नहीं की गई है तो उनका एलोकेशन कैंसिल कर दिया जाएगा बहुत जल्द ही इस भूखंड के एलोकेशन को कैंसिल करने की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी 2014 के माह जून में गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने सेक्टर 15 में 255 भूखंडों का आवंटन किया था, जिनमें से 55 भूखंडों का मामला कोर्ट के सामने गया जिसकी वजह से 200 भूखंडों का लोकेशन मान्य कर दिया गया।

 

 

परंतु इन भूखंडों में मूलभूत सुविधाओं का विकास मार्च के माह तक पूरा किया जा सके ऐसी स्थित में औद्यमियों की आपत्ति के बाद जिला प्रशासन ने अप्रैल की 1 तारीख 2016 से इन भूखंडों के लोकेशन की तारीख को निर्धारित कर दिया है। इसके पश्चात गिडा के नए प्रावधान के हिसाब से लोकेशन भूखंडों पर ज्यादा से ज्यादा 5 साल में भूखंड पर फैक्ट्री से उत्पादन प्रारंभ कर दिया जाना चाहिए।  जिनमें से खास बात तो यह है कि अधिकतर भूखंड ऐसे हैं जिन पर फैक्ट्रियां स्थापित ही नहीं की गई हैं। कुछ महीने पहले भूखंड निरस्तीकरण की सूचना मिलने पर कई आवंटियों ने फौरन प्लॉटों पर बाउंड्री तथा शेड बनाना प्रारंभ कर दिया।

 

 

गिडा के रूल्स के हिसाब से ऐसे प्लॉटों का आवंटन भी कैंसिल होना चाहिए  एलोकेशन की डेट से ज्यादा से ज्यादा 5 साल के अंदर फैक्ट्री का संचालन प्रारंभ हो जाना चाहिए और जिन लोगों ने फैक्टरी स्थापित कर दी है, उनको शपथ पत्र देना पड़ेगा या फिर भूखंड का आवंटन निरस्त कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.