बुधवार, दिसम्बर 8

प्रवासी भारतीय कामगारों के लिए खुशखबरी, खाड़ी देशो से बिहार में सीधा सफर का रास्ता साफ

बिहटा एयरपोर्ट के लिए 173 एकड़ भूमि अधिग्रहित की गई है। आठ एकड़ और भूमि का प्रस्ताव नागरिक उड्डयन मंत्रालय को भेजा गया है। इस विषय पर शनिवार को जिला प्रशासन, एयरपोर्ट प्रशासन और स्थानीय नागरिकों की बैठक प्रस्तावित है। अधिकारियों का कहना है कि नया एयरपोर्ट बनाने का काम शुरू हो गया है। शेष आठ एकड़ भूमि को अधिग्रहित का प्रस्ताव गया हुआ है। मंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद एयरपोर्ट बनाने में तेजी आ जाएगी।

अगले दो साल के अंदर बिहटा एयरपोर्ट को बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इस बीच आठ एकड़ भूमि को अधिग्रहित करने के लिए एयरपोर्ट प्रशासन ने डीएम से अनुरोध किया था। अपर समाहर्ता राजस्व राजीव श्रीवास्तव ने बताया कि शनिवार को भूमि अधिग्रहण के मामले में बैठक बुलाई गई है। इधर जिला भू-अर्जन पदाधिकारी पंकज पटेल ने बताया कि बिहटा एयरपोर्ट के लिए भूमि अधिग्रहण को प्राथमिकता के तौर पर रखा गया है। एयरपोर्ट प्रशासन को जितनी भूमि की जरूरत थी उसके अधिग्रहण का प्रस्ताव मंत्रालय को भेज दिया गया है। मंत्रालय की सहमति आने के बाद किसानों को मुआवजा राशि देने का काम शुरू हो जाएगा

आठ एकड़ रेलवे की जमीन ली जाएगी
दानापुर से बिहटा तक एलीवेटेड सड़क बनाने के लिए जिला प्रशासन ने रेलवे से करीब आठ एकड़ भूमि लेने का प्रस्ताव भेजा गया है। आठ एकड़ भूमि में सबसे अधिक दानापुर स्टेशन के पास है। रेलवे स्टेशन के पास का एरिया चौड़ा किया जाएगा। जिला भू अर्जन पदाधिकारी ने बताया कि दानापुर से बिहटा के लिए जो एलीवेटेड सड़क बनाई जाएगी उसमें कई जगहों पर रैंप बनाने का प्रस्ताव है। फ्लाईओवर पर वाहनों के चढ़ने के लिए रैंप बनने हैं, ताकि दानापुर से बिहटा के बीच में लोग बीच-बीच में सड़क पर नीचे से ऊपर अपनी गाड़ियों के लेकर चढ़ सकें या उतर सकें। सर्वे का काम चल रहा है। एक एजेंसी को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। सर्वे का काम पूरा होने के बाद भूमि अधिग्रहण का प्रस्ताव एनएचएआई की ओर से दिया जाना है। एलीवेटेड सड़क फोरलेन होगी। अधिकारियों का कहना है कि यह सड़क 100 से 125 फीट चौड़ी होगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *