सोमवार, नवम्बर 29

पुरे भागलपुरवासियों के लिए जारी हुआ हेल्पलाइन, सभी लोग अपने क्षेत्र का मोबाइल नंबर सेव करिये

भागलपुर सहित पूर्व बिहार, कोसी और सीमांचल में पुलिस द्वारा कड़ा रुख अपनाने के बाद मंगलवार से लॉकडाउन असरदार दिखने लगा। पुलिस की सख्‍ती से लोग घर में दुबक गए। जो लोग बाहर निकले थे, उन्‍हें पुलिस ने घर भेज दिया। पुलिस के समाझाने का असर लोगों में दिखा। लॉक डाउन में दूध, दवाई, सब्‍जी और किराना की दुकानों को छोड़कर सभी दुकानों को बंद कर दिया है। हालांकि इस दौरान दुकानदारों ने ज्‍यादा मुनाफे कमाने के लिए कीमतों में बढ़ोतरी कर दी। वहीं, आकाशवाणी भागलपुर का प्रसारण रोक दिया गया है। आकाशवाणी भागलपुर में दूसरे केंद्रों के कार्यक्रमों को रिले किया जा रहा है।

 

कोरोना से सतर्कता बरतने के लिए आकाशवाणी के भागलपुर केंद्र को मंगलवार से पूरी तरह लॉकडाउन कर दिया गया है। अभी दिल्ली, पटना, रांची और विविध भारती केद्रों से प्रसारित होने वाले कार्यक्रमों को यहां से रिले जा रहा है। यहां रिकॉर्डिग बंद कर दी गई है। आम लोगों और रिकॉर्डिंग कराने के लिए आने वाले लोगों का प्रवेश आकाशवाणी में बंद है। आकाशवाणी भागलपुर के प्रोग्राम हेड डॉ प्रभात नारायण झा ने बताया कि यहां कर्मियों की कमी है। आकाशवाणी के क्वार्टर में रहने वाले स्टाफ नहीं के बराबर हैं। कैजुअल स्टाफ अभी काम करना नहीं चाहते। आकाशवाणी किसी भी कैजुअल स्टाफ को दबाव देकर नहीं बुला सकता।

साथ ही यह भी निर्देश है कि अगर कोई भी स्टॉफ कोरोना वायरस से सुरक्षित रहने के लिए घर से नहीं निकलना चाहता है तो उसे नहीं बुलाया जाए। कार्यक्रम का संचालन वरीय उद्घोषक डॉ. विजय कुमार मिश्र ‘विरजू भाई’ करते हैं। यहां एक ही उद्घोषक हैं। इस कारण यह निर्णय लिया गया है। इसके अलावा यहां कई कार्यक्रम अधिशासी के पद खाली हैं। अभी आकाशवाणी भागलपुर की सभाओं को पटना के कार्यक्रमों से जोड़ दिया गया है। केंद्र सरकार ने आकाशवाणी दिल्ली और विविध भारती को यह निर्देश दिया है कि कोरोना वायरस से संबंधित ज्यादातर कार्यक्रमों का प्रसारण किया जाए। साथ ही सामाचार का लगातार प्रसारण किया जा रहा है।

 

पूर्व बिहार, कोसी और सीमांचल में आवश्यक सामान की कीमतें बढ़ीं। बांका में एक दर्जन बाइकें जब्त। कालाबाजारी की आशंका पर आलू के गोदाम में छापेमारी। जमुई, लखीसराय और मुंगेर में लॉकडाउन असरदार। मुंगेर में बाइक चालकों पर लाठी चार्ज। मुंगेर विश्वविद्यालय के कुलपति और प्रति कुलपति दोनों अवकाश पर। खगडिय़ा, सुपौल, सहरसा और मधेपुरा में भी लॉकडाउन असरदार। खगडिय़ा में कई वाहन पकड़े गए। मधेपुरा में वाहन चलाने पर 150 लोगों का काटा चालान। अररिया में आधा दर्जन बाइक चालकों से जुर्माना वसूला गया। किशनगंज में भी लोग घरों में दुबके। कटिहार व पूर्णिया में भी लॉकडाउन असरदार, खाद्य सामग्री के दाम बढ़े।

 

डीएम प्रणव कुमार ने आवश्यक खाद्य सामग्री सब्जी, फल, मशरूम आदि के आने पर रोक नहीं लगाने का आदेश दिया है। उन्होंने सभी एसडीओ और डीएसपी से कहा है कि कोरोना वायरस को रोकने के लिए लगाए गए प्रतिबंध के क्रम जानकारी मिल रही है कि पुलिस द्वारा खाद्य सामग्रियों के आने पर रोक लगाई जा रही है। जबकि आवश्यक खाद्य के आगमन पर किसी प्रकार का प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। खाद्य सामग्रियों के आने पर रोक नहीं लगाई जाए, ताकि आम लोगों तक खाद्य सामग्री आसानी से पहुंच जाए।

DJH ·¤æðÚUæðÙæ ßæØÚUâ ·ð¤ Õ¿æß ·ð¤ çÜ° çÕãUæÚU ×ð´ Üæò·¤ ÇUæ©UÙ çÌÜ·¤æ×æ¢Ûæè ¿æñ·¤ ·¤è âÇU¸·¤ ÂÇU¸è âéÙâæÙ

डीएम ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी और अनुमंडल पदाधिकारी जिले में आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का आदेश दिया है। डीएम ने आदेश जारी कर कहा है कि कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए लॉक डाउन आदेश जारी किया गया है। ऐसी स्थिति में यह आवश्यक हो गया है कि दैनिक उपयोग की आवश्यक वस्तुओं की कमी के कारण जनसामान्य को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो। डीएम ने आदेश दिया है कि आवश्यक वस्तुओं खाद्यान्न, तेल, नमक, फल-सब्जी, रसोई गैस, दवा, मास्क, सैनिटाइजर, किराना सामग्री आदि की आपूर्ति करने वाले प्रतिष्ठानों पर कड़ी नजर रखते हुए सूचना संग्रह करें। कालाबाजारी नहीं हो, इसके लिए नियमित रूप से छापेमारी करें। यह सुनिश्चित किया जाए कि आवश्यक वस्तुओं का संग्रहण नहीं हो। लोगों को उचित मूल्य पर सामग्री उपलब्ध हो। इस मामले में किसी प्रकार की बाधा उत्पन्न करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई करें।

 

बिना आदेश के कोई भी कर्मी मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे। डीएम ने सभी कार्यालय प्रधान को निर्देश दिया है कि कोई भी कर्मी बिना आदेश के मुख्यालय नहीं छोड़े, यह हर हाल में सुनिश्चित कर लें। उन्होंने जारी आदेश में कहा है कि कोरोना को लेकर युद्ध स्तर पर राहत और बचाव कार्य चलाए जा रहे हैं। राहत और बचाव कार्य के लिए किसी भी समय किसी भी पदाधिकारी और कर्मी को प्रतिनियुक्त किया जा सकता है। इसलिए कोई भी कर्मी अगले आदेश तक मुख्यालय को नहीं छोड़ेंगे। सभी को मोबाइल और दूरभाष के लोकेशन में रहने के लिए कहा गया है।

 

कॉल सेंटर, नियंत्रण कक्ष व पीएचसी का फोन नंबर

जिला नियंत्रण कक्ष व नशा मुक्ति केंद्र-0641-2421073

रेफरल अस्पताल नाथनगर-8544421255

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खरीक-8544421249

शाहकुंड-8544421240

पीरपैंती-7254979930

गोपालपुर-9934190651

गोराडीह-8544421251

बिहपुर-8544421242

सुल्तानगंज-8544421241

सबौर-0641-2451125

कहलगांव-8544421245

जगदीशपुर-8544421238

सन्हौला-8544421246

नारायणपुर-8544421250

रंगरा-8544421253

नवगछिया-8544421257

इस्माइलपुर-8544421252

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *