सोमवार, नवम्बर 29

गोरखपुर से तार दुबई में नौकरी के लिए 53 लोग पहुंचे एयरपोर्ट सच्चाई पता चली तो पहुंचे SSP के पास

दुबई एयरपोर्ट पर नौकरी का झांसा देकर जालसाज ने 53 युवकों से 32.48 लाख लेकर फर्जी टिकट व वीजा दे दिया। दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचने पर उन्हें इसकी जानकारी हुई। शिकायत करने पर पिपराइच पुलिस ने समझौता करा दिया। पीडि़तों ने गुरुवार को एसएसपी से मिलकर कार्रवाई की गुहार लगाई। सीओ चौरीचौरा को मामले की जांच मिली है। महराजगंज, श्यामदेउरवां के बेलवा निवासी मनोज विश्वकर्मा सहित अन्य युवक गुरुवार को एसएसपी से मिले।

उन लोगों ने एसएसपी को बताया कि वह फेरी लगाकर गांव में प्लास्टिक के सामान बेचने जाते थे। पिपराइच कस्बे में मोटे शिव मंदिर के पास एक बोर्ड पर दुबई एयरपोर्ट में काम करने का विज्ञापन देखकर अपने अन्य साथियों को सूचना दी। विज्ञापन पर छपे मोबाइल नंबर पर संपर्क करने पर बताया गया कि प्रतिमाह 30 से 40 हजार रुपये मिलेंगे। झांसे में आकर मनोज समेत 53 लोगों ने पिपराइच के ताज पिपरा चौराहे पर स्थित ऑफिस में संपर्क किया। इस दौरान सभी लोगों से कहा गया कि 70 से 80 हजार रुपए में उनको विदेश भेज दिया जाएगा।

झांसे में आकर युवकों ने पासपोर्ट के साथ रुपये दे दिए। पासपोर्ट और वीजा लेकर जब सभी अलग-अलग तिथियों में दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचे तो बताया गया कि वीजा और टिकट फर्जी है। गोंडा, मनकापुर के जोगापुर निवासी छोटेलाल निषाद अपने बेटे अखिलेश, देवरिया, गौरीबाजार के लगड़ी गांव निवासी जमील खां, झंगहा के गहिरा चौबे टोला निवासी शमशेर अंसारी और शिवपुर के बाबू टोला निवासी सनोज कुमार पिपराइच के ताज पिपरा में ऑफिस चलाते थे। दुबई में नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया जाएगा। आरोपितों की तलाश चल रही है। सीओ चौरीचौरा को जांच दी है। – डॉ. सुनील गुप्ता, एसएसपी

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *