सप्ताह भर से गर्मी से परेशान चल रहे लोगों को शनिवार को थोड़ी राहत मिली। करीब चार से पांच घंटे की रिमङिाम बारिश के चलते 5.4 डिग्री सेल्सियस तापमान में गिरावट आई। मौसम विभाग ने इसे मानसून से पहले की बारिश बताया है। पूर्वानुमान जताया है कि आगामी 15-16 जून से जिले में मानसूनी बारिश के आसार हैं। इससे तापमान में करीब दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आएगी।

 

शनिवार की सुबह लोग उमस से परेशान थे। सुबह बादल व धूप के बीच कशमकश जारी थी, लेकिन दोपहर करीब एक बजे बादलों ने धूप पर विजय पा ली। अचानक तेज हवाएं चलने लगीं। उसके बाद रिमङिाम बारिश शुरू हो गई। करीब चार से पांच घंटे में 4.1 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई। मौसम विशेषज्ञ कैलाश पाण्डेय ने बताया कि दक्षिणी यूपी के ऊपर एक चक्रवाती हवा का क्षेत्र बना हुआ है। वाराणसी से लेकर गोरखपुर तक पट्टी फैली हुई है।

 

 

इसकी वजह से गोरखपुर व उसके आस-पास के क्षेत्रों में बारिश हुई है। यह प्री-मानसून की बारिश है। आगामी 15-16 जून से मानसून के आसार हैं। उन्होंने बताया कि मानसून 2021 की रेखा अभी सूरत(गुजरात), नंदुरबार (महाराष्ट्र), रायसेन (मध्य प्रदेश), दमोह, उमरिया, पेंड्रा(मध्य प्रदेश), बालागीर, भुवनेश्वर(उड़ीसा), पुरुलिया (पश्चिम बंगाल), धनबाद(झारखंड) से गुजर रही है। आने वाले एक दो दिन में उत्तरी बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश पर आने की संभावना है।

 

 

आने वाले 3-4 दिनों में गोरखपुर क्षेत्र, बेतिया, सुपौल जिले में हल्की से मध्यम वर्षा होगी। यह बारिश तेज हवा के बीच बादलों की गरज और बिजली की चमक के साथ हो सकती है। बारिश का यह सिलसिला चार से पांच दिन तक चल सकता है। शनिवार को दिन का अधिकतम तापमान 31.6 व न्यूनतम 24 डिग्री सेल्सियस रहा। नमी का आंकड़ा 96 से 70 प्रतिशत के बीच दर्ज किया गया था। रविवार को दिन का अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम 24 डिग्री सेल्सियस के करीब रहने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *