शुक्रवार, दिसम्बर 3

गोरखपुर मेट्रो अब सिर्फ कचहरी चौराहे तक ही नहीं बल्कि यहां तक होगा पहुंच।

दो बोगियों वाली गोरखपुर मेट्रो कचहरी चौराहे के बजाए अब नौसढ़ तक जाएगी। उधर सूबा बाजार तक प्रस्तावित मेट्रो अब एमएमएमयूटी तक ही जाएगी। गोरखपुर में मेट्रो को लेकर शुक्रवार को लखनऊ में  अधिकारी मंथन करेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो बोगियों वाली गोरखपुर मेट्रो को लेकर कुछ सुझाव दिये थे अधिकारियों ने इसके लिए संशोधित डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार कर ली है। डीपीआर को लेकर कार्यदायी संस्था राईटस, लखनऊ मेट्रो रेल कार्पोरेशन (एलएमआरसी) साहित कुछ अन्य विभागों के अफसर मंथन करेंगे। बैठक में कमिश्नर जयंत नार्लिकर और नवागत जीडीए उपाध्यक्ष अनुज सिंह भी मौजूद रहेंगे।

मुख्यमंत्री ने शहर में मेट्रो संचलन के प्रस्ताव में कुछ और सुझाव दिए थे। मसलन दूसरा रूट कचहरी से बढ़ाकर नौसड़ में बने नए बस अड्डे तक किया जाए। वहीं पहले रूट सूबा बाजार से पहले एमएमएमयूटी पर ही खत्म करने का विचार है। सूबा बाजार की जगह महेसरा में दूसरा डिपो बनाने का मुख्यमंत्री का सुझाव है। मुख्यमंत्री के सुझाव पर अधिकारियों ने डीपीआर में संशोधन कर दिया है। लखनऊ में प्रस्तावित बैठक में डीएम के. विजयेंद्र पांडियन को भी जाना था, लेकिन वह नहीं जा रहे हैं। बता दें कि गोरखपुर मेट्रो रेल वर्ष 2041 तक के लिए प्रस्तावित किया गया है। तब वर्तमान जनसंख्या 14 लाख से बढ़कर 23 लाख तक के लिए होगी।

मेट्रो लाइट रेल ट्रांजिट सिस्टम (एलआरटीएम) पर कार्य करेगी। दो बोगियों वाले मेट्रो में एक बार में 400 यात्री सफर कर सकेंगे। पूर्व डीपीआर के मुताबिक श्याम नगर से सूबा बाजार तक 16.95 किमी के लिए प्रस्तावित पहले कॉरिडोर में 16 स्टेशन बनाए जाएंगे। इसी तरह गुलरिहा से कचहरी तक 10.46 किमी के दूसरे कॉरिडोर पर 11 मेट्रो स्टेशन प्रस्तावित हैं। मुख्य अभियंता संजय कुमार सिंह का कहना है कि संशोधित डीपीआर तैयार कर ली गई है। शुक्रवार को बैठक में विचार होगा। संभव है संशोधित डीपीआर पर बैठक में मुहर लग जाए।

100 करोड़ लागत बढ़ने की उम्मीद

डीपीआर में संशोधन से मेट्रो परियोजना की लागत 4800 करोड़ से बढ़कर करीब 4900 करोड़ हो जाएगी। नौसड़ बस अड्डे तक रूट के विस्तार के लिए राप्ती नदी पर फ्लाइओवर बनाना पड़ेगा। सिर्फ इसी पर 80 करोड़ रुपये का खर्च बताया जा रहा है। वर्तमान में प्रस्तावित 16 स्टेशनों की संख्या बढ़-घट सकती है।

अभी इन रूटों पर प्रस्तावित थी मेट्रो

मेट्रो रूट एक

श्याम नगर, बरगदवा, शास्त्री नगर, नथमलपुर, गोरखनाथ मंदिर, हजारीपुर, धर्मशाला, गोरखपुर रेलवे स्टेशन, गोरखपुर यूनिवर्सिटी, मोहद्दीपुर, रामगढ़ताल, एम्स, मालवीय नगर, एमएमएमयूटी, दिव्य नगर होते हुए सूबा बाजार।

मेट्रो रूट दो

गुलरिहा, बीआरडी मेडिकल कॉलेज, मुगलहां, खजांची बाजार, बशारतपुर, अशोक नगर, विष्णु नगर, असुरन चौक, धर्मशाला, गोलघर होते कचहरी चौराहा तक।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *