शुक्रवार, दिसम्बर 3

गोरखपुर में राप्ती नदी के तटबंध पर बना बड़ा होल, मच सकती है भारी त’बाही

राप्ती नदी के बरही तटबंध पर जगह जगह शाही होल बना हुआ है। शाही होल से तटबंध कमजोर हो गया है। नदी में उफान आने पर तटबंध के ध्वस्त होने का ख’तरा मडरा रहा है। बरही गांव ग्राम प्रधान प्रतिनिधि सूर्यनारायण जायसवाल ने इसको लेकर चिंता जताई। कहा है कि शाही होल बंद नही कराया गया तो तटबंध पर ख’तरा हो सकता है। उन्होंने कहा कि रविवार को नदी का जलस्तर डेढ़ मीटर बढा है।

उन्होंने यह भी कहा कि मझगावा से बरही बंधे से 400 मीटर की दूरी पर 20 फीट नदी गहरी हो गई है। इससे बरही पर ख’तरा बढ़ गया है। एसडीएम अर्पित गुप्ता से की गई शिकायत पर उन्होंने विभाग से 250 मीटर जीरो रबर ट्यूब का ठोकर लगाने का निर्देश दिया, लेकिन अभी तक वह कार्य नही हुआ है। हालांकि एसडीएम ने अपने निरीक्षण के दौरान शाही होल को बंद करने का निर्देश दिया है लेकिन बरही बंधे पर अभी कोई कार्य नही कराया गया है।

बरही के ग्राम प्रधान का कहना है कि बरही गांव के पास वर्षो पूर्व की बोल्डर पिचिंग है। वह खिसक गया है। नए प्रोजेक्ट के तहत नदी की सफाई के लिए 20 मीटर गहरा कर दिया गया। नदी से गांव की दूरी 400 मीटर ही रह गई है। ऐसे में यदि बाढ़ आई तो सबसे पहले बरही का बंधा ध्वस्त होगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *