बुधवार, दिसम्बर 8

गोरखपुर में पास के लिए लगी भीड़ के बाद डीएम ने सभी गेटो को बंद कराया, पुलिस शख्त ना निकले बेवजह

लॉकडाउन में छूट मिलते ही लोग शहर की सड़कों पर उमड़ पड़े। कलेक्ट्रेट परिसर में मंगलवार को अचानक लोंगो की आवाजाही बढ़ने पर जिलाधिकारी के.विजयेंद्र पांडियन ने नाराजगी जताई। उन्होंने कलेक्ट्रेट के सभी गेट को बंद करने का आ’देश दिया। डीएम की नाराजगी के बात सभी गेट को बंद करा दिया गया है।

पास के लिए लगी भीड़

मंगलवार को भी पास बनने की प्रक्रिया के साथ ही कंट्रोल रूम का कार्य पूर्व की भांति चल रहा था। सभी अधिकारी और कर्मचारी अपने कार्यों में व्यस्त दिखे हालांकि कुछ लोग गफलत में कलेक्ट्रेट जरूर पहुंचे लेकिन कोई काम न होता देख वपस लौट गए। डीएम के आदेश के पर तहसीलदार संजीव दीक्षित ने लोंगो से परिसर के बाहर जाने का निर्देश दिया। दफ्तरों के खुलने और कर्मचारियों के सुबह 9 बजे से 10:30 बजे तक कार्यालय जाने के कारण चार पहिया वाहन और दो पहिया वाहन दिख रहे थे। जबकि सोमवार तक इन वाहनों की संख्या बेहद कम थी।

तीन मई तक लॉकडाउन का अनिवार्य रूप से पालन करना है। कोई बदलाव नहीं हुआ है। केवल सरकारी कार्य ही हो रहे हैं ऐसे में आम जनता से अपील है कि जो जहां है वहीं रहे। सारी प्रयास जनता की सुरक्षा के लिए किये जा रहे हैं। इसे बनाये रखने में सहयोग करें। सरकारी कर्मचारियों को भी सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखना है। – के. विजयेंद्र पांडियन, जिलाधिकारी

 

माइक से करना पड़ा एनाउंस

छूट की जानकारी लोगों को पहले से थी। इस कारण सुबह ही लोग सड़कों पर निकल पड़े। सुबह नौ बजे तक सड़कों पर देखकर ऐसा लगने लगा कि लॉकडाउन खत्‍म हो गया है। इसके बाद पुलिस प्रशासन ने मोर्चा संभाला और माइक से एनाउंस करना शुरू कर दिया है कि लॉकडाउन खत्‍म नहीं हुआ है इसलिए बिना वजह सड़क पर न निकलें। पुलिस ने दोपहर बाद से सख्‍ती भी शुरू कर दी।

 

सड़क पर बेवजह घूम रहे लोगों से डाउनलोड कराया आरोग्य सेतु एप

उधर, महिला थाना प्रभारी अर्चना सिंह ने सोमवार को बेवजह सड़क पर घूमते मिले लोगों से आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कराया। अपने 10 परिचितों को इसके बारे में बताने और लॉकडाउन के दौरान घर से न निकलने का भरोसा देने पर सबको छोड़ा गया। लॉकडाउन में छूट मिलने के भ्रम में सोमवार की सुबह बड़ी संख्या में लोग वाहन लेकर सड़क पर निकल गए। अधिकारियों को जानकारी हुई तो चौराहों पर लगे बैरियर के पास भीड़ को रोक दिया गया। शहर में केवल पास धारकों को आने की अनुमति दी गई। कैंट और शाहपुर इलाके में निकली महिला थाना प्रभारी अर्चना सिंह ने बेवजह घूमते मिले लोगों को रोककर कोरोना के ख’तरे से आगाह किया। लॉकडाउन के दौरान घर में रहकर अपने साथ ही परिवार को सुरक्षित रखने को कहा। लोग बिना हेलमेट, मास्क और पास के गाड़ी चलाते मिले।