सोमवार, नवम्बर 29

गोरखपुर में खुल गया पहला साइबर थाना अब इन अपराधियों की खैर नहीं, पहला मुकदमा हुआ दर्ज

गोरखपुर में पहला साइबर थाना शुरू हो गया है. इन दिनों पुलिस की सबसे बड़ी परेशानी साइबर क्राइम से निपटना है और यह पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौती साबित हो रही है इन सभी चीजों से निपटने के लिए गोरखपुर में पहला साइबर थाना शुरू किया गया। जिसका उद्घाटन डीआईजी राकेश मोडन ने किया उन्होंने कहा कि यह कदम साइबर क्राइम को रोकने में बहुत हुई मददगार साबित होगा।

उद्घाटन के साथ हुई थाने को सीसीटीएनएस (क्राईम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क सिस्टम) से जोड़ दिया गया है. बता दें कि यह थाना डीआईडी के देखरेख में संचालित होगी। इस थाने से गोरखपुर के साथ-साथ देवरिया कुशीनगर और महाराजगंज जिले में हुई ऑनलाइन ठगी बैंक अकाउंट से किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी फेसबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम पर आपत्तिजनक टिप्पणी इन तरह के अपराधों से निपटा जा सकता है।

विवेक मिश्रा को इस साइबर क्राइम थाने का प्रभारी नियुक्त किया गया है साथ साथ 30 पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया जाएगा फिलहाल थाना प्रभारी समेत 14 लोग इस थाने में तैनात हैं। पहला मुकदमा उद्घाटन के दिन आईटी एक्ट के तहत दर्ज हुआ जिसमें गोरखपुर की रहने वाली पीड़िता ने पुलिस को बताया कि इंस्टाग्राम पर उसकी फोटो डालकर अ’श्ली’ल बातें लिखी गई हैं। साइबर थाने के इंस्पेक्टर ने बताया कि आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *