सोमवार, नवम्बर 29

गोरखपुर को विश्व का सबसे लम्बा प्लेटफॉर्म के बाद अब एक और रिकॉर्ड बनाने को तैयार 15 फ़रवरी को खुशखबरी

पूर्वोत्तर रेलवे के खाते में फरवरी में एक और बड़ी उपलब्धि जुड़ जाएगी। मुख्यालय गोरखपुर में विश्व के सबसे लंबे प्लेटफार्म (1366.44 मीटर) पर देश का सबसे बड़ा सेकेंड क्लास वेटिंग हॉल 15 फरवरी तक बनकर तैयार हो जाएगा। इंजीनियरिंग कार्य पूरा हो चुका है। फिनिशिंग चल रही है। जंक्शन के मुख्य द्वार पर स्थित यह वेटिंग हॉल दस हजार 815 स्क्वायर फीट क्षेत्रफल में बन रहा है। यह विश्व का कवर्ड सबसे बड़ा वेटिंग हॉल होगा। पटना में भारतीय रेलवे का सबसे बड़ा एसी वेटिंग हॉल है, जिसका क्षेत्रफल लगभग साढे सात हजार स्क्वायर फीट है।

गोरखपुर में बन रहे वेटिंग हॉल में दो महापंखे लग चुके हैं। एलईडी लाइट हॉल को भव्यता प्रदान कर रही है। हॉल में एक साथ हजारों यात्री बैठ सकते हैं। यात्रियों को एक ही हॉल में उ’चस्तरीय सभी सुविधाएं मिल जाएंगी। डिस्प्ले बोर्ड और एनांउस सिस्टम के जरिये ट्रेनों की पल-पल की जानकारी मिलती रहेगी। हॉल के पश्चिमी छोर पर फास्ट फूड यूनिट खुलेगी। यानी, नाश्ता और भोजन की भी सुविधा होगी।

हॉल से सटे पूर्वी छोर पर टिकट काउंटर होंगे। लगभग आठ हजार स्क्वायर फीट में टिकट घर बन रहा है। प्रवेश द्वार के फ्रंट पर पूछताछ काउंटर होगा। इस वेटिंग हॉल का रखरखाव, सज्जा और सफाई की जिम्मेदारी निजी हाथ में होगी। इसके लिए एक एजेंसी नामित कर दी गई है। जो वेटिंग हॉल का रखरखाव, सफाई व अटेंडेंट की सुविधा मुहैया कराएगी। साथ ही रेलवे को निश्चित धनराशि भी प्रदान करेगी। जिसके बदले वेटिंग हॉल में निर्धारित क्षेत्रफल में विज्ञापन के जरिये धनोपार्जन करेगी। तरह-तरह के विज्ञापन यात्रियों को आकर्षित करेंगे।

सेकेंड क्लास वेटिंग हॉल के नवनिर्माण का कार्य पूरा हो चुका है। नव प्रयोग के तहत रखरखाव, सफाई व अटेंडेंट की सुविधा मुहैया कराने के लिए एक एजेंसी फिक्स की गई है। यात्रियों को उ’चस्तरीय सुविधाएं मिलेंगी। – पंकज कुमार सिंह, सीपीआरओ, एनई रेलवे

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *