सोमवार, नवम्बर 29

गोरखपुर इंटरनेश्नल स्टेडियम पर शानदार अपडेट, इस जगह बनी सहमति, अगला कदम GDA का है।

शहर में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम के निर्माण स्थल के चयन के लिए गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) बीसीसीआइ (बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया) की मदद लेगा। विशेषज्ञ चिह्नित भूमि का निरीक्षण कर बताएंगे कि वहां स्टेडियम बनाया जा सकता है या नहीं। उनकी रिपोर्ट के बाद ही जीडीए कदम आगे बढ़ाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम बनाने का निर्देश दिया है। इसको लेकर जीडीए ने प्रयास तेज कर दिया है। लखनऊ के इकाना स्टेडियम के डीपीआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) का अध्ययन किया गया है तो निर्माण करने वाली संस्था के अधिकारियों ने मौके का निरीक्षण भी किया है। जीडीए ने मानबेला एवं खोराबार में अधिग्रहित भूमि पर स्टेडियम निर्माण का प्रस्ताव दिया तो मानबेला पर मौखिक सहमति बनी।

यहां पेच यह फंस गया है कि स्टेडियम के लिए जीडीए की ओर से प्रस्तावित 35 एकड़ भूमि के लिए पर्याप्त रास्ता नहीं मिल पा रहा है। 50 से 60 हजार दर्शकों की क्षमता वाले स्टेडियम के लिए चौड़े रास्ते का विकल्प तलाशा जा रहा है। हाल ही में मुख्यमंत्री के गोरखपुर दौरे के समय भी जीडीए अधिकारियों ने रास्ते की समस्या उठाई थी। इसके बाद मेडिकल रोड के और नजदीक स्टेडियम की संभावना तलाशने का निर्णय हुआ।

यहां प्राधिकरण की 17 एकड़ जमीन है और सामने मेडिकल रोड से फर्टिलाइजर तक जाने वाली सड़क का चौड़ीकरण भी होना है। अब यह यह जमीन स्टेडियम के लिए पर्याप्त है या नहीं, इसकी तकनीकी बारीकियों को जानने के लिए जीडीए बीसीसीआइ के विशेषज्ञों को बुलाने जा रहा है। स्टेडियम निर्माण को लेकर बीसीसीआइ के विशेषज्ञों से भी सलाह ली जाएगी। बीसीसीआइ को जल्द पत्र लिखकर स्थलीय सत्यापन का अनुरोध किया जाएगा। – अनुज सिंह, उपाध्यक्ष, जीडीए।

1 Comment

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *