बुधवार, दिसम्बर 8

गोरखपुरवासियो के लिए खुशखबरी स्टेशन और आयुष यूनिवर्सिटी के बिच बनेगा काम जल्द शुरू साथ में मेट्रो की सुविधा भी

गोरखपुर को आने वाले कुछ वर्षों में बड़ी सौगात मिलने जा रही है। वाराणसी रूट को नया गोरखपुर बनाने की तैयारी है। इस रूट पर जहां एक तरफ 300 एकड़ में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनेगा वहीं 100 एकड़ में आयुष विश्वविद्यालय। इन दोनों के बीच खूबसूरती बढ़ाने के लिए 40 एकड़ में रामगढ़झील की तर्ज पर एक ताल भी विकसित किया जाएगा। इससे वाराणसी रूट पूरी तरह से पिकनिक स्टॉप की तर्ज पर विकसित हो जाएगा।

नई व्यवस्था के क्रम में वाराणसी रूट पर 300 एकड़ क्षेत्र में एयरपोर्ट खुल जाने से लगभग सभी प्रमुख शहरों के लिए उड़ानें संभव हो सकेंगी। इसके साथ ही एयरपोर्ट से आवागमन भी सुलभ हो जाएगा। अभी एयरफोर्स साथ होने और एरिया कम होने की वजह से उड़ानों की संख्या नहीं बढ़ पा रही है।

वहीं एम्स और मल्टी स्पेशियालिटी सेंटर के खुल जाने के बाद वाराणसी रूट पर ही आयुष विश्वविद्यालय खोलने की तैयारी है। इसके खुल जाने से यहां यूनानी, आयुर्वेदिक, योगा, सिद्धा और होमियोपैथी चिकित्सा विधि की पढ़ाई हो सकेगी। आयुष मंत्रालय ने इस सम्बंध में प्रदेश सरकार को सहमति दे दी है। अब प्रदेश सरकार से सहमति मिलने का इंतजार है। यहां से सहमति मिलते ही विवि के निर्माण के लिए डीपीआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) बनाकर मंजूरी के लिए भेज दिया जाएगा।

वाराणसी रूट पर इंटरनेशनल एयरपोर्ट और आयुष विवि के पास झील के विकसित किए जाने से यह रूट पूरी तरह से पिकनिक स्टाप बन जाएगा। यह शहर की तीसरी झील होगी जहां लोग खूबसूरती का आनन्द ले सकेंगे। एक ओर जहां वाराणसी रूट का कायाकल्प होगा वहीं दूसरी ओर यह पूरी तरह से मेट्रो से भी कनेक्ट रहेगा। एयरपोर्ट या आयुष विवि आने के लिए लोगों को के लिए मेट्रो की सुविधा नौसढ़ में उपलब्ध रहेगी।

वाराणसी रूट पर आयुष विवि के साथ ही एयरपोर्ट बनेगा। इन दोनों के साथ ही यहां ताल भी विकसित किया जाएगा ताकि यहां भी लोग घूमने के लिए आ सकें। तीनों के लिए तैयारी चल रही है। कुछ औपचारिकताएं पूरी होनी बाकी हैं। प्रयास है कि जल्द से जल्द इस पर काम शुरू किया जा सके।

के. विजयेन्द्र पाण्डियन, जिलाधिकारी

6 Comments

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *