मुख्यमंत्री ने शिलान्यास समारोह के दौरान बताया के गांधी मैदान से साइंस कॉलेज वाया पीएमसीएच डबल डेकर फ्लाईओवर का शिलान्यास होगा। जिससे फोरलेन की कनेक्टिविटी को एंबुलेंस के डेडीकेटेड कॉरिडोर को ध्यान में रखा गया और कहा इससे बेहतर यातायात व्यवस्था होगी यह डबल डेकर फ्लाईओवर तकरीबन 2.2 किमी लंबा बनाया जाएगा, जिसमें लगात 422 करोड़ की आएगी।

 

आइए जानते इस फ्लाईओवर की क्या विशेषता होगी?

यह फ्लाईओवर 1.50 किमी पहले तल की लंबाई से बनाया जाएगा और 2.20 किमी दूसरे तल की लंबाई से तथा 2.20 किमी भूतल की लंबाई के साथ बनाया जाएगा इस तरह से 7.50 मीटर हर एक में दो लेन तथा दोनों फ्लोर की भिन्न-भिन्न चौड़ाई से लैस होगा।

 

 

इस फोरलेन के बनने से यातायात व्यवस्था में बदलाव आएगा।

फोरलेन की कनेक्टिविटी को एंबुलेंस के डेडीकेटेड कॉरिडोर को ध्यान में रखा गया और जेपी गंगा पथ परियोजना से अशोक राजपथ को जोड़ने का भी प्रावधान रखा गया। इस परियोजना के जरिए जेपी गंगापुत्र को सीधे कनेक्ट कर दिया जाएगा, जिससे जाम से निजात मिलेगी और संपर्क पथ से गायघाट, पटना, सिटी तथा कच्ची दरगाह तक जेपी गंगा पथ के जरिए से यातायात व्यवस्था और भी सुलभ बनेगी।

 

डबल डेकर सड़क का निर्माण अगले 3 साल में –
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समारोह में बताया इस डबल डेकर सड़क का निर्माण अगले 3 साल में कर दिया जाएगा और निर्माण में खुदाबख्श लाइब्रेरी से छेड़छाड़ नहीं की जाएगी। कोरोना के संबंध में अलर्ट करते हुए कहा बिहार में खतरा वर्तमान समय में भी बरकरार है। इसलिए सभी को अलर्ट रहना चाहिए और देश के विभिन्न राज्य में लोग पीड़ित हो रहे हैं। कहां वर्तमान समय में कल तक 73 कोरोना पीड़ित मिले। और अभी कुछ दिन और देखना पड़ेगा। गांधी मैदान के कारगिल चौक के संबंध में बताया और समीप के आयोजित हुए कार्यक्रम से पूर्व मुख्यमंत्री एमसीएच कैंपस भी पहुंचे।