बुधवार, दिसम्बर 8

खुशखबरी : गोरखपुर से नए रुट पर बस सेवा की सौगात, टाटा मार्को पोलो मैग्ना बस का होगा परिचालन

कोरोना वा’यरस के बढ़ते संक्रमण ने पर्यटन के साथ परिवहन निगम को भी बैकफुट पर धकेल दिया है। महत्वाकांक्षी गोरखपुर-काठमांडू बस सेवा को परमिट मिलने के बाद भी हरी झंडी नहीं मिल पा रही है। इसका मूल कारण कोरोना वायरस का सं’क्रमण है। कोरोना वा’यरस का सं’क्रमण स’माप्त होने के बाद ही बस सेवा शुरू करने पर विचार किया जा रहा है।

दो नई जनरथ बसों को संचालित करने की प्रक्रिया विभाग की तरफ से शुरू हो गई है। परमिट में दोनों जनरथ बसों का नंबर दर्ज कराया जा रहा है। सभी तैयारियां पूरी की जा रही हैं। इन बसों को संचालित करने का समय पूरा हो गया है, पर कोरोना के कारण परेशानी पैदा हो गई है। गोरखपुर से काठमांडू एसी बस सेवा के तहत गोरखपुर से जनरथ बस यात्रियों को लेकर काठमांडू के लिए रवाना होगी। नेपाल से टाटा मार्को पोलो मैग्ना बस गोरखपुर आएगी।

बसों की पार्किंग दोनों देशों के अधिकृत डिपो में ही होगी। नेपाल सरकार ने पहले से ही बस सेवा की संस्तुति प्रदान कर दी है। एसी जनरथ बस गोरखपुर से काठमांडू के लिए रोजाना शाम चार बजे रवाना होगी। लगभग 370 किमी की दूरी 12 घंटे में यात्रा पूरी हो जाएगी। लगभग 875 रुपये किराया निर्धारित किया गया है। हालांकि समय सारिणी और किराए में बदला हो सकता है।

इस संबंध में परिवहन निगम, गोरखपुर परिक्षेत्र के क्षेत्रीय प्रबंधक डीवी सिंह का कहना है कि गोरखपुर-काठमांडू बस सेवा की कुछ औपचारिकताएं ही शेष रह गई हैं। विभागीय स्तर पर लगभग तैयारी पूरी है। अब कोरोना वा’यरस सं’क्रमण का प्रभाव समाप्त होने के बाद ही सेवा शुरू करने पर विचार किया जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *