सोमवार, नवम्बर 29

खुशखबरी : गोरखपुर के ये दो रोड को स्मार्ट सड़क बनाने के लिए चुना गया, बदलेगी सूरत

शहर में विकास अब और तेजी से दौड़ेगा। राज्य स्मार्ट सिटी में शामिल गोरखपुर शहर के लिए बजट में 50 करोड़ रुपये सालाना की व्यवस्था होने से विकास कार्यों में तेजी आएगी। प्रदेश सरकार ने पिछले साल ही गोरखपुर को राज्य स्मार्ट सिटी में शामिल किया था लेकिन विकास कार्यों के लिए बजट की व्यवस्था नहीं हो पायी थी। अब शहर में सीवर सिस्टम, कूड़ा निस्तारण, सड़क, इंट्रीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट आदि कार्यों पर काम होगा।

केंद्र सरकार ने वर्ष 2015 में स्मार्ट सिटी योजना शुरू की थी। लेकिन गोरखपुर शहर इसमें शामिल नहीं हो पाया था। पिछले साल राज्य सरकार ने प्रदेश के सात शहरों को राज्य स्मार्ट सिटी योजना में शामिल किया। इसमें गोरखपुर भी शामिल था। राज्य स्मार्ट सिटी के तहत चयनित गोरखपुर शहर में दो सड़कों को स्मार्ट बनाने का प्रस्ताव पास हो चुका है। इन सड़कों को स्मार्ट सिटी के बजट से विकसित किया जाएगा। बेतियाहाता चौराहे से गोलघर होते हुए यातायात तिराहा और यातायात तिराहा से रेलवे बस स्टेशन तक की सड़क स्मार्ट बनेगी।

शहर को स्मार्ट बनाने के लिए तीन हजार करोड़ रुपये की जरूरत है। इन रुपयों से सीवर लाइन, सालिड वेस्ट मैनेजमेंट, सड़क, मॉडल पार्क, इलेक्ट्रिक बस, सौ फीसद पेयजल आपूर्ति, पौधरोपण आदि कार्य होंगे। अकेले पूरे शहर में सीवर लाइन बिछाने में ही तकरीबन दो हजार करोड़ रुपये का खर्च आने की उम्मीद है। राज्य स्मार्ट सिटी में चयनित गोरखपुर शहर को हर साल 50 करोड़ रुपये अलग से मिलने की बात थी। अब बजट में इसकी व्यवस्था होने से विकास कार्यों में और तेजी आएगी। – सुरेश चंद, नगर आयुक्त

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *