दुनिया के सात अजूबों में से ताजमहल एक है जिसको देखने पूरी दुनिया भर से लोग हर साल तकरीबन 70 लाख लोग इसे देखने के लिए आते हैं। लोग ताजमहल को मोहब्बत की निशानी भी कहते हैं लेकिन आप यह नहीं जानते होंगे, ताजमहल के ऊपर से हवाई जहाज नहीं गुज़र सकता और इसकी वजह क्या है आइए जानते हैं?

 

 

आपको यह सुनकर अजीब लगेगा ताजमहल के ऊपर से हवाई जहाज नहीं उड़ते हैं, अजीब तो है मगर ये बात सच भी है बता दें ताजमहल के 7.4 किलोमीटर क्षेत्र के अंतर्गत कई तरह के हवाई जहाज को उड़ाने पर रोक लगाई गई है इसकी वजह यह है के यहां एक नो फ्लाई जोन है। अब आप यह सोच रहे होंगे के ये नो फ्लाई ज़ोन क्या होता है तो बता दें की नो फ्लाई जोन असल में देश का ऐसा क्षेत्र है जगह है जहां हवाई जहाज को उड़ाने की परमिशन नहीं होती है, उसे नो फ्लाई जोन कहते हैं।

 

 

 

नो फ्लाई जोन-  आइए बताते हैं के किन क्षेत्रों को नो फ्लाई जोन में रखा जाता है, बता दें कई स्थान ऐसे होते हैं जहां की भौगोलिक स्थिति हवाई जहाज के उड़ाने के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं होती है। ऐसे स्थानों को नो फ्लाई जोन में रखा जाता है। इसके साथ-साथ कई बार किसी भी एरिया के लोगों को सुरक्षा देने के लिए या फिर युद्ध जैसी स्थिति पैदा होने पर सरकार इस एरिया को कुछ वक्त के लिए नो फ्लाई जोन में रख देती है। इसके अलावा सुरक्षा के लिए कुछ इमारतों को भी नो फ्लाई जो़न में रखा जाता है जिनमें राष्ट्रपति भवन, संसद तथा प्रधानमंत्री आवास भी सम्मिलित है

Leave a Reply

Your email address will not be published.