शुक्रवार, दिसम्बर 3

अभी अभी : बिहार के सभी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग, जू, पार्क सभी 31 मार्च तक बं’द करने का आ’देश जा’री

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कोरोना वा’यरस को लेकर अपने आवास पर आज उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की। बैठक के बाद मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बड़ी घो’षणा की जिसमें उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने कोरोना वा’यरस को लेकर एह’तिया’तन बड़ा फै’सला लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी स्कूल-कॉलेज, कोचिंग इंस्टीच्यूट, सभी सिनेमा हॉल, जू-पार्क सभी 31 मार्च तक बं’द रहेंगे। लेकिन सीबीएसई की परीक्षाएं जारी रहेंगी। वहीं सरकारी कर्मी भी अल्टरनेट तरीके से इस दौरान दफ्तर आएंगे, ताकि सरकारी दफ्तरों में भीड़ ना हो।

मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कहा कि कोरोना को देखते हुए बिहार दिवस जो कि 22 मार्च को आयोजित था, वो भी नहीं मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि बिहार दिवस के आयोजन को लेकर नई तारीख का ए’लान बाद में किया जाएगा। किसी भी सामूहिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा। मुख्य सचिव ने कहा कि बिहार के सभी आंगनबाड़ी केंद्र बं’द रहेंगे। स्कूल बं’द रहने के दौरान मिड डे मील की राशि बच्चों के परिजनों के खाते में डा’ल दिए जाएंगे। कोरोना को लेकर सोमवार को बिहार में फिर होगी समीक्षा बैठक।

इस दौरान राज्य में किसी भी तरह का कल्चरल आयोजन नहीं किया जाएगा। वहीं सभी स्वास्थ्य विभाग कर्मियों की सभी छुट्टियां र’द कर दी गई हैं। पटना के पीएमसीएच के सभी डॉक्टरों की छु’ट्टि’यां र’द कर दी गई हैं। म्यूजियम बं’द रहेंगे। जनता के लिए दिशा नि’र्देश भी जारी किए जाएंगे। मुख्य सचिव ने कहा कि एह’तिया’तन ये कदम उठाए गए हैं, वहीं उन्होंने कहा कि नॉ’नवे’ज पर सरकार की तरफ से रो’क को लेकर अभी कोई नि’र्देश नहीं है। अभी 31 मार्च तक के लिए ये फ़ै’सला लिया गया है और सोमवार को फिर इसपर फिर से समीक्षा की जाएगी। वहीं, 14 मार्च को पटना में होने वाले ‘बिहार स्टार्टअप कॉन्क्लेव’ के कार्यक्रम को भी बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने र’द कर दिया है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई इस हा’ई ले’वल मीटिंग में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, प्रदेश के स्वास्थ्यमंत्री मंगल पांडेय सहित कई उच्चाधिकारी शामिल थे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में कोरोना से बचाव के लिए किए जा रहे उपायों की जानकारी ली। इसके साथ ही इसे लेकर क्या कदम उठाए जाने चाहिए, इसकी भी च’र्चा की गई।

बता दें कि बिहार में अब तक 60 से अधिक सं’दि’ग्धों की जांच हुई है, लेकिन किसी में भी मरीज में कोरोना के पॉजिटिव ल’क्षण नहीं मिले हैं। वहीं, बिहार के बॉर्डर इलाकों के साथ ही बोधगया में वि’शेष नजर र’खी जा रही है। क्योंकि वहां विदेशी पर्यटक ज्यादा आते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *